स्वस्थ जीवन के सूत्र

जैसा कि हम सब जानते है कि हमारा शरीर बहुत ही बहुमूल्य हैं। कितना भी कीमत देकर पूर्ण रूप से स्वस्थ शरीर पुनः प्राप्त नहीं किया जा सकता हैं। इसलिए शरीर को स्वस्थ हमेशा बनाए रखना जरुरी हैं। यदि आप हमेशा स्वस्थ शरीर चाहते हैं तो कुछ सावधानियां बरते जो कि इस पोस्ट में आगे बताया गया हैं।

 

मुँह के रास्तें कीटाणु शरीर में प्रवेश कर जाते हैं जो कि कई बीमारियों का कारण होता हैं। इसे हम निम्नलिखित रूप से समझ सकते हैं :-

  1. हाथों के माध्यम से कीटाणु शरीर में प्रवेश करते हैं।
  2. खुले में शौच के ऊपर बैठनेवाली मक्खियों एवं पालतू जानवरों के माध्यम से भी कीटाणु हमारे शरीर में प्रवेश करते हैं।
  3. दूषित जल के इस्तेमाल से भी कीटाणु हमारे शरीर में प्रवेश करते हैं।
  4. दूषित भोजन/ दूषित जल/ दूषित फल एवं दूषित सब्जियों के ग्रहण करने के क्रम में भी कीटाणु हमारे शरीर में प्रवेश करते हैं, जिसे कि बीमारियों का प्रमुख कारण माना जा सकता हैं। 
  5. बिना ढक कर रखा हुआ भोजन और बिना उबाले हुए पानी के ग्रहण करने से भी बीमारियाँ होती हैं।

अभी तक तो हमने जानने का प्रयास किया कि कीटाणु किन किन रूप में शरीर में प्रवेश कर जाते हैं जो कि कई बीमारियों का कारण बनता हैं। अब हम उससे बचने का उपाय के बारे में जानते है जो कि निम्नलिखित हैं :-

  1. शौच के हमेशा शौचालय का इस्तेमाल करें। इससे घर की इज्जत भी सुरक्षित रहेगी और आप बीमारियों से भी बचेंगे।
  2. शौच के बाद और खाना खाने से पहले हाथों को साबुन से अच्छी तरह धोएं।
  3. पीने के पानी के स्रोत के आसपास सफाई का विशेष ध्यान रखें।
  4. भोजन और पीने के पानी को हमेशा ढक कर रखें।
  5. प्रतिदिन नहाने की आदत डालें।
  6. स्वच्छ और स्वस्थ भोजन का ही उपयोग करें।
  7. हरी सब्जियों का नियमित सेवन करें।
  8. सप्ताह में कम से कम दो दिन प्रोटीन से भरपूर आहार का सेवन करें।
  9. वजन को आवश्यकता से अधिक नहीं बढ़ने दे।
  10. प्रतिदिन धूप में कुछ समय अवश्य बिताएं ताकि विटामिन डी की कमी शरीर में कभी न हो।
  11. खाने में प्रतिदिन आयोडीन नमक का ही इस्तेमाल करें ताकि आयोडीन की कमी से होने वालें रोगों जैसे घेंघा, गलगंठ आदि से बचा जा सकें।

Formula For Good Health

स्वस्थ जीवन के सूत्र

जैसा कि हम सब जानते है कि हमारा शरीर बहुत ही बहुमूल्य हैं। कितना भी कीमत देकर पूर्ण रूप से स्वस्थ शरीर पुनः प्राप्त नहीं किया जा सकता हैं। इसलिए शरीर को स्वस्थ हमेशा बनाए रखना जरुरी हैं। यदि आप हमेशा स्वस्थ शरीर चाहते हैं तो कुछ सावधानियां बरते जो कि इस पोस्ट में आगे बताया गया हैं।

 

मुँह के रास्तें कीटाणु शरीर में प्रवेश कर जाते हैं जो कि कई बीमारियों का कारण होता हैं। इसे हम निम्नलिखित रूप से समझ सकते हैं :-

  1. हाथों के माध्यम से कीटाणु शरीर में प्रवेश करते हैं।
  2. खुले में शौच के ऊपर बैठनेवाली मक्खियों एवं पालतू जानवरों के माध्यम से भी कीटाणु हमारे शरीर में प्रवेश करते हैं।
  3. दूषित जल के इस्तेमाल से भी कीटाणु हमारे शरीर में प्रवेश करते हैं।
  4. दूषित भोजन/ दूषित जल/ दूषित फल एवं दूषित सब्जियों के ग्रहण करने के क्रम में भी कीटाणु हमारे शरीर में प्रवेश करते हैं, जिसे कि बीमारियों का प्रमुख कारण माना जा सकता हैं। 
  5. बिना ढक कर रखा हुआ भोजन और बिना उबाले हुए पानी के ग्रहण करने से भी बीमारियाँ होती हैं।

अभी तक तो हमने जानने का प्रयास किया कि कीटाणु किन किन रूप में शरीर में प्रवेश कर जाते हैं जो कि कई बीमारियों का कारण बनता हैं। अब हम उससे बचने का उपाय के बारे में जानते है जो कि निम्नलिखित हैं :-

  1. शौच के हमेशा शौचालय का इस्तेमाल करें। इससे घर की इज्जत भी सुरक्षित रहेगी और आप बीमारियों से भी बचेंगे।
  2. शौच के बाद और खाना खाने से पहले हाथों को साबुन से अच्छी तरह धोएं।
  3. पीने के पानी के स्रोत के आसपास सफाई का विशेष ध्यान रखें।
  4. भोजन और पीने के पानी को हमेशा ढक कर रखें।
  5. प्रतिदिन नहाने की आदत डालें।
  6. स्वच्छ और स्वस्थ भोजन का ही उपयोग करें।
  7. हरी सब्जियों का नियमित सेवन करें।
  8. सप्ताह में कम से कम दो दिन प्रोटीन से भरपूर आहार का सेवन करें।
  9. वजन को आवश्यकता से अधिक नहीं बढ़ने दे।
  10. प्रतिदिन धूप में कुछ समय अवश्य बिताएं ताकि विटामिन डी की कमी शरीर में कभी न हो।
  11. खाने में प्रतिदिन आयोडीन नमक का ही इस्तेमाल करें ताकि आयोडीन की कमी से होने वालें रोगों जैसे घेंघा, गलगंठ आदि से बचा जा सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *