मलेरिया के सम्बन्ध में आवश्यक जानकारियाँ
* मलेरिया के लक्षण :-

1. ठण्ड लगना ।
2. कपकपी ।
3. सिर दर्द ।
4. उल्टी एवं चक्कर आना ।
5. तेज बुखार ।
6. अत्यधिक पसीने के साथ बुखार का कम होना ।
ऐसा प्रतिदिन या एक दिन बीच करके या फिर निश्चित अन्तराल पर हो सकता हैं ।
" उपरोक्त लक्षणों में से दो या दो से अधिक लक्षण वाला व्यक्ति मलेरिया से संक्रमित हो सकता हैं । "
* मलेरिया के बारे में आवश्यक सुचना :-

1. मलेरिया प्रायः मादा एनोफ्लिज मच्छर के काटने से होता हैं ।
* बचाव के उपाय :-

1. घर एवं आसपास बने गड्ढों, नालियों, बेकार पड़े खाली डब्बों, पानी की टंकियों, गमलों, टायर-ट्यूब आदि में पानी एकत्रित न होने दे ।
2. जमे हुए पानी में मिट्टी तेल की कुछ बुँदे अवश्य डाले ।
3. सोते समय मच्छरदानी अथवा मच्छर भगाने वाली क्रीम या फिर अगरबत्ती का प्रयोग अवश्य करे ।
4. मलेरिया से बचाव हेतू डी०डी०टी० छिड़काव अवश्य कराएं ।
* इलाज हेतु आवश्यक सुचना :-

1. इस बीमारी की शंका होने पर अपने नजदीकी अस्पताल में शीघ्र मरीज की जाँच कराएं ।
2. मलेरिया की जांच एवं उपचार की सुबिधा सभी सरकारी अस्पतालों एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर निःशुल्क उपलब्ध हैं ।
3. इस बीमारी की जांच की सुबिधा सभी जिला अस्पतालों में भी उपलब्ध हैं ।

Disease – Malaria

मलेरिया के सम्बन्ध में आवश्यक जानकारियाँ
* मलेरिया के लक्षण :-

1. ठण्ड लगना ।
2. कपकपी ।
3. सिर दर्द ।
4. उल्टी एवं चक्कर आना ।
5. तेज बुखार ।
6. अत्यधिक पसीने के साथ बुखार का कम होना ।
ऐसा प्रतिदिन या एक दिन बीच करके या फिर निश्चित अन्तराल पर हो सकता हैं ।
" उपरोक्त लक्षणों में से दो या दो से अधिक लक्षण वाला व्यक्ति मलेरिया से संक्रमित हो सकता हैं । "
* मलेरिया के बारे में आवश्यक सुचना :-

1. मलेरिया प्रायः मादा एनोफ्लिज मच्छर के काटने से होता हैं ।
* बचाव के उपाय :-

1. घर एवं आसपास बने गड्ढों, नालियों, बेकार पड़े खाली डब्बों, पानी की टंकियों, गमलों, टायर-ट्यूब आदि में पानी एकत्रित न होने दे ।
2. जमे हुए पानी में मिट्टी तेल की कुछ बुँदे अवश्य डाले ।
3. सोते समय मच्छरदानी अथवा मच्छर भगाने वाली क्रीम या फिर अगरबत्ती का प्रयोग अवश्य करे ।
4. मलेरिया से बचाव हेतू डी०डी०टी० छिड़काव अवश्य कराएं ।
* इलाज हेतु आवश्यक सुचना :-

1. इस बीमारी की शंका होने पर अपने नजदीकी अस्पताल में शीघ्र मरीज की जाँच कराएं ।
2. मलेरिया की जांच एवं उपचार की सुबिधा सभी सरकारी अस्पतालों एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर निःशुल्क उपलब्ध हैं ।
3. इस बीमारी की जांच की सुबिधा सभी जिला अस्पतालों में भी उपलब्ध हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *